What Is 5G Technologies: 5G क्या है? जानें 5G से जुड़े फायदे और नुकसान।

What Is 5G Technologies: पिछले कुछ समय से भारत में 5G को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। कुछ लोग इसे लेकर बेहद उत्साहित हैं तो कुछ इसके खिलाफ खड़े हैं। भारत में फ़िलहाल 4G मोबाइल नेटवर्क का उपयोग कॉल और मैसेज भेजने तथा इंटरनेट सर्फ़ करने के लिए किया जा रहा है। एयरटेल और जिओ जैसे दिग्गज भारत में सबसे पहले 5G लॉन्च करने की दौड़ में व्यस्त हैं। हों भी क्यों ना यह टेक्नोलॉजी भारत में टेलीकॉम सेक्टर का चेहरा बदल कर रख देगी। लेकिन क्या आप जानते हैं 5G क्या है?

5G क्या है? | What Is 5G Technologies

5G एक तेज तर्रार एक सॉफ्टवेयर आधारित नेटवर्क है। यह मोबाइल नेटवर्क की पांचवी जेनरेशन है। कहा जा रहा है की 5G नेटवर्क की डाटा ट्रांसफर स्पीड 4G नेटवर्क से लगभग 100 गुना अधिक है। 5G नेटवर्क का मुख्य उद्देश्य वायरलेस नेटवर्क की स्पीड और कार्यक्षमता को बढ़ाना है।

5G टेक्नोलॉजीआमतौर पर 3Ghz-6Ghz फ्रीक्वेंसी के बीच काम करती है। इस फ्रीक्वेंसी रेंज को “सब-6 बैंड” भी कहा जाता है। आज के ज्यादातर डिवाइस इसी फ्रीक्वेंसी में काम करते हैं। इसलिए इस फ्रीक्वेंसी में बेहद ज्यादा ट्रैफिक होता है। यही कारण है कि एक्सपर्ट 5G के लिए 6Ghz से ज्यादा फ्रीक्वेंसी का प्रयोग करने की सोच रहे हैं। अगर ख़बरों की मानें तो कंपनियां 5G तकनीक के लिए 24Ghz-300Ghz स्पेक्ट्रम पर प्रयोग करने की तयारी में है, जिसे हाई-बैंड माना जाता है। इस फ्रीक्वेंसी को विज्ञान में मिलीमीटर-वेव (mmWave) भी कहा जाता है।

5G टेक्नोलॉजी मुख्यतः 5 तकनीकों को मिलाकर बनी है, इन तकनीकों को 5G के 5 आधारस्तंभ भी कह सकते हैं।

  • मिलीमीटर वेव
  • छोटे सेल्स
  • मैक्सिमम MIMO
  • बीमफॉर्मिंग
  • फुल डुप्लेक्स

5G के फायदे | Advantages Of 5G Technologies

वैसे तो 5G टेक्नोलॉजी के कई फायदे हैं, लेकिन यहां 5G के कुछ मुख्य फायदों का विवरण किया गया है।

  1. 5G पहले से अधिक प्रभावी और कुशल है।
  2. फास्ट स्पीड और जीरो लेटेंसी के कारण एक ही समय पर कई सुविधाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  3. दुनिया के किसी भी कोने में बैठा छात्र वर्चुअल क्लास अटेंड कर होगा।
  4. एक डॉक्टर दुनिया के दूरदराज के हिस्से में स्थित रोगी का इलाज कर सकता होगा।
  5. ब्रह्मांड, आकाशगंगाओं और ग्रहों की कल्पना करना संभव होगा।
  6. लापता व्यक्ति का पता लगाना और उसकी तलाश करना संभव होगा।
  7. संभव है, सुनामी, भूकंप आदि सहित प्राकृतिक आपदा का तेजी से पता लगाया जा सके।
  8. आप अपने पीसी को हैंडसेट से नियंत्रित कर सकते हैं।
  9. सरकारी संगठन और जांच एजेंसियां दुनिया के किसी भी हिस्से की निगरानी कर सकते हैं। अपराध दर को कम करना संभव होगा।
  10. ऑगमेंटेड रियलिटी तथा अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में क्रांति ला सकती है।

5G के नुकसान | Disadvantages Of 5G Technologies

जैसे हर सिक्के के दो पहलू होते हैं, उसी तरह किसी भी नई टेक्नोलॉजी के फायदे के साथ अपने कुछ नुकसान भी होते हैं। 5G के भी हैं। यही कारण है कि समाज और निसर्ग प्रेमी शुरू से 5G का विरोध करते आ रहे हैं। आइए जानते हैं 5G तकनीक के नुकसानों के बारे में।

  • 5G तकनीक अपने ऊंचे दाम के कारण हर इंसान की पहुंच में नहीं होगी।
  • 5G का इस्तेमाल करने के लिए नए 5G उपकरणों की आवश्यकता होगी।
  • टेक्नोलॉजी की कमी के कारण शुरुवाती दौर में शायद 5G के नतीजे उतने बेहतर न मिलें जितने दिखाए जा रहे हैं।
  • 5G टेक्नोलॉजी का फायदा आम ग्राहकों से ज्यादा बड़े उद्योगों तथा सरकारों को होगा
  • 5G तकनीक आम नागरिक की प्राइवेसी के लिए एक खतरा साबित हो सकती है।
  • 5G तकनीक हाई रेडिएशन के कारण सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है। हालांकि इस पर अब भी शोध शुरू हैं।

इस लेख में हमने आसान शब्दों में यह बताने की कोशिश की कि, 5G क्या है (What Is 5G Technologies), 5G के फायदे क्या हैं और 5G के नुकसान क्या हैं। दरअसल हमारे जीवन से जुडी हर तकनीक की जानकारी हमें होनी चाहिए। क्योंकि यह हमारे जीवन पर अच्छा या बुरा प्रभाव डाल सकती हैं। इस ब्लॉग मेंस मग के माध्यम से वही जानकारियां आप तक पहुंचाने की कोशिश हम कर रहें हैं। इसमें हमारा साथ दें तथा आर्टिकल को शेयर कर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इसे पहुंचाने में हमारी मदत करें।

Leave a Reply